2008 की मंदी की भविष्यवाणी करने वाले अर्थशास्त्री ने कहा, ‘मजबूत है भारत’


नई दिल्ली

कई आर्थिक सुधारों के साथ भारत की इकॉनमी मजबूत है और वैश्विक मंदी के दौर में वह चमकदार स्थिति में है। 2008 की वैश्विक मंदी का पूर्वानुमान जताने वाले अमेरिकी अर्थशास्त्री ‘डॉक्टर डूम’ नॉरियल रूबीनी ने यह बात कही है। इकनॉमिक टाइम्स को दिए इंटरव्यू में रूबीनी ने कहा कि भारत में सांगठनिक सुधार सही दिशा में जा रहे हैं, लेकिन नीतिगत सुधारों में और तेजी हो सकती है। इमर्जिंग मार्केट्स के एनालिस्ट कहे जाने वाले 57 वर्षीय रूबीनी ने कहा कि ग्लोबल इकॉनमी कमजोर ग्रोथ की ओर बढ़ रही है, इसके चलते उभरती अर्थव्यवस्थाओं की ग्रोथ भी 5-6 पर्सेंट की बजाय 4-5 पर्सेंट तक ही रह सकती है। रूबीनी ने कहा कि विकसित और विकासशील अर्थव्यवस्थाओं की ग्रोथ में मंदी की कई वजहें हैं। रूबीनी ने कहा कि बड़े पैमाने पर असंतुलन, वित्तीय असंयम, कर्ज और मुनाफे में कमी, सांगठनिक सुधारों का अभाव और उम्रदराज होती जनसंख्या की वजह से बड़ी अर्थव्यवस्थाएं मंदी के दौर में हैं। रूबीनी ने कहा, ‘दुर्भाग्य से वैश्विक अर्थव्यवस्था एक बार फिर असामान्य स्थिति में है। हालांकि आईएमएफ ने इसे अभी नया मध्यम स्तर करार दिया है।’ भारत को लेकर उन्होंने कहा, ‘लेकिन कुछ अपवाद भी हो सकते हैं। भारत उनमें से एक होगा, जो मंदी के दौर में चमकदार जगह साबित हो सकता है।’
रूबीनी ने कहा कि कुल मिलाकर सरकार की परफॉर्मेंस पॉजिटिव है। राजकोषीय स्थिति सही है, बाहरी परिस्थितियां भी भारत के अनुकूल हैं। रूबी ने कहा कि यह भाग्य की बात है। रूबीनी ने कहा कि कच्चे तेल और अन्य कमोडिटीज के दामों कमी की वजह से भारत का राजकोषीय और व्यापारिक संतुलन बना हुआ है। उन्होंने भारत के नीति-निर्माताओं के प्रयासों की भी तारीफ की। उन्होंने वित्त मंत्री अरुण जेटली और गवर्नर रघुराम राजन के प्रयासों की भी सराहना की।
राजन को सराहते हुए उन्होंने कहा, ‘आप लोगों के पास बहुत ही मजबूत गवर्नर है, जिसके पास इस बात का आइडिया है कि कैसे ग्रोथ को बनाए रखा जाए और महंगाई पर भी नियंत्रण रहे। आपके पास एक बेहद क्षमतावान वित्त मंत्री है।’ 2008 की मंदी की भविष्यवाणी करने वाले रूबीनी ने भारत का भविष्य बताते हुए कहा, ‘मैं मानता हूं कि उभरते देशों में खासकर ब्रिक्स देशों में मंदी का माहौल है। लेकिन भारत अपवाद है।’ उन्होंने कहा कि घरेलू बाजार में डिमांड होने की वजह से भारत की इकॉनमी सही रहेगी

Source

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s